1947 के बाद 250 की आबादी वाले धामसु गाँव तक सड़क पहुंची

लक्ष्य अंत्योदय